srimandir playstore link
सर्दी-जुकाम की आयुर्वेदिक दवा

सर्दी-जुकाम की आयुर्वेदिक दवा

घरेलू नुस्खों से पाएं सर्दी-जुकाम में राहत


सर्दी-जुकाम से राहत के लिए घरेलू उपचार

बदलता मौसम अक्सर अपने साथ सर्दी-जुकाम जैसी कई बीमारियां लेकर आता है। कई बार इम्यूनिटी कमजोर होने के कारण भी सर्दी-जुकाम की परेशानी आती है। ऐसे में आप कितना भी बचने की कोशिश करें एक छोटी सी चूक आपको सर्दी-जुकाम से प्रभावित कर देती है। हालांकि ये जितनी आसानी से ये हमें प्रभावित करती है, उतनी ही आसानी से इसका इलाज भी हो जाता है।

जुकाम होने के कई कारण हो सकते हैं। कभी मौसम में बदलाव, तो कुछ लोगों को ठंडी चीजें खाने से तो किसी को बारिश में भीगने से भी जुकाम हो जाते हैं। आमतौर पर लोग सर्दी-जुकाम होने पर जल्द राहत के लिए एलोपैथिक दवा ले लेते हैं, लेकिन इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि आप सर्दी-जुकाम का घरेलू उपायों और आयुर्वेद से भी ठीक कर सकते हैं।

जुकाम क्या है और क्यों होता है?

जुकाम को कई जगहों पर स्थानीय भाषा में नजला भी कहते हैं। सर्दी-जुकाम श्वसन तंत्र में संक्रमण से होने वाला रोग है। इसमें व्यक्ति की नाक, गला और फेफड़ा प्रभावित होता है। आमतौर पर सामान्य जुकाम वायरस संक्रमण के कारण होता है। जुकाम से पीड़ित व्यक्ति को नाक से पानी बहने, छींक आने, गले की खराश, नाक बंद होना जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा कुछ केस में सांस लेने में तकलीफ के साथ सिर दर्द जैसी परेशानी आती है।

सर्दी-जुकाम के लक्षण

सर्दी-जुकाम के होने पर शरीर में कई बदलाव आते हैं। सर्दी-जुकाम का पहला लक्षण नाक से पानी बहना या नाक में खुजली होना है। इसके अलावा गले में खराश, नाक बंद, सिर दर्द और भारीपन के साथ आंखों में जलन, खांसी, बुखार और छींक आना सर्दी-जुकाम के लक्षण हैं। इसमें पीड़ित कई बार बेचैनी भी महसूस करता है।

सर्दी-जुकाम के कारण

सर्दी-जुकाम आम तौर पर वायरस के संक्रमण के कारण ही होता है। एक शोध के मुताबिक करीब दो सौ ऐसे वायरस हैं, जिनकी वजह से जुकाम होते हैं। इसमें एक सबसे प्रमुख वायरस राइनोवायरस है। 30 से 80 प्रतिशत सर्दी-जुकाम के केस में इस वायरस को कारण माना गया है।

सर्दी-जुकाम का घरेलू इलाज

वैसे तो सर्दी-जुकाम को मामूली संक्रमण कहते हैं, लेकिन कई बार ये बड़ा रूप ले लेता है। जो आगे चलकर साइनस या माइग्रेन जैसी बीमारियों का कारण बनता है। ऐसे में हमें सर्दी-जुकाम को कभी भी हल्के में लेकर नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। सर्दी-जुकाम के इलाज के लिए कई एलोपैथिक दवा मौजूद है, लेकिन हम यहां आपको कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं, जिससे आप आसानी से बिना किसी साइड इफेक्ट के सर्दी-जुकाम और खांसी से छुटकारा पा सकते हैं। इन उपाय से आप अपने शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम को भी मजबूत कर सकते हैं।

हल्दी और दूध

हल्दी कई औषधीय गुणों से भरा है। हल्दी कई बीमारियों में लाभ देता है। हल्दी को सर्दी-जुकाम के लिए रामबाण दवा बताया गया है। एक गिलास गर्म दूध में दो चम्मच हल्दी पाउडर डालकर पीने से सर्दी-जुकाम में राहत मिलती है। हल्दी और गर्म दूध से बंद नाक और गले की खराश में आराम मिलता है। गर्म दूध नाक से पानी बहना बंद कर देता है।

तुलसी

तुलसी औषधीय गुणों से भरा है। इसी कारण सनातन धर्म में तुलसी के पौधे की पूजा भी होती है। जानकार बताते हैं, जुकाम में तुलसी अमृत के फल देती है। खांसी और जुकाम होने पर 5-7 पत्तियों को पानी में डालकर काढ़ा बनाकर पीने से जुकाम ठीक हो जाता है। नाक बंद होने पर तुलसी की मंजरियों को रुमाल में रखकर सूंघने से नाक खुल जाता है। छोटे बच्चों को जुकाम होने पर 6-7 बूंद अदरक और तुलसी का रस शहद में मिलाकर चाटने से बच्चों को आराम मिलता है।

मेथी और अलसी

सर्दी-जुकाम से राहत के लिए मेथी और अलसी को 3-4 ग्राम की मात्रा में लेकर 1 गिलास पानी में उबालें। जब मेथी और अलसी अच्छी तरह उबाल जाए, तो ठंडा होने के बार उसकी 3-4 बूंद दोनों नाक में डालें। इससे सर्दी-जुकाम में आराम मिलता है।

हल्दी और अजवाइन

सर्दी-जुकाम से राहत के लिए दस ग्राम हल्दी और दस ग्राम अजवाइन को एक कप पानी में डालकर अच्छी तरह से उबालें। जब पानी आधा रह जाए, तब इसे ठंडा होने दें, अब इसमें थोड़ा सा गुड़ मिलाकर पिएं। इससे सर्दी-जुकाम में तुरंत आराम मिलता है और नाक से पानी बहना बंद हो जाता है।

काली मिर्च

सर्दी-जुकाम से राहत के लिए काली मिर्च को भी कारगर दवा माना गया है। इसके लिए काली मिर्च को चूर्ण बनाकर शहद के साथ चाटने से जुकाम में आराम मिलता है। एक गिलास गर्म दूध में आधा चम्मच काली मिर्च का पाउडर और एक चम्मच मिश्री मिलाकर पीने से भी सर्दी-जुकाम में राहत मिलती है।

सरसों का तेल

बंद नाक के इलाज के लिए सरसों का तेल काफी कारगर माना गया है। रात को सोते समय नाक के दोनों छिद्र में 2-2 बूंद सरसों का तेल डालकर सोने से बंद नाक के साथ गले की खराश में राहत मिलती है। इससे नाक में होने वाले और भी रोगों से छुटकारा मिलता है।

अदरक

कफ वाली खांसी और सर्दी से राहत के लिए अदरक को काफी कारगर माना गया है। अदरक को दूध में उबालकर दूध पीने से खांसी और सर्दी में राहत मिलती है। अदरक के रस को शहद में मिलाकर चाटने से भी जुकाम में आराम मिलता है। अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े कर इसे देसी घी में भूनकर खाने से नाक से पानी बहने की समस्या से छुटकारा मिलता है।

लहसुन

लहसुन में एलिसिन नामक रसायन पाया जाता है, जो एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल और एंटी-फंगल होता है। यह सर्दी-जुकाम के संक्रमण में फायदेमंद होता है। इसके लिए 4-5 लहसुन की कलियों को घी में भूनकर खाने से आराम मिलता है।

सर्दी-जुकाम के दौरान खान-पान

सर्दी-जुकाम के दौरान खानपान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि इस समय न सिर्फ आपको संक्रमण से बचना होता है, शरीर की इम्यूनिटी सिस्टम को भी मजबूत करने की जरूरत होती है। ऐसे में हमें पौष्टिक और गर्म भोजन करना चाहिए। इसके अलावा छोटी-छोटी कुछ और उपायों को भी कर सकते हैं। जैसे:-

  • आधा चम्मच मूली के बीज को चूर्ण बनाकर शहद के साथ चाटें।
  • अमरूद को आग में हल्का भूनकर खाएं।
  • जीरा पाउडर को घी और शक्कर के साथ मिलाकर खाएं।
  • जायफल को पीसकर एक चुटकी पाउडर एक ग्लास दूध में मिलाकर पिएं।

सर्दी-जुकाम के दौरान जीवनशैली

सर्दी-जुकाम संक्रमण से होने वाली बीमारी है। ऐसे में हमें इस दौरान विशेष सावधानियां बरतनी चाहिए। सर्दी-जुकाम के दौरान हमें साफ-सुथरे और गर्म जगह पर रहना चाहिए। हमारे कपड़े भीगा हुआ न हो, इसका विशेष ख्याल रखना चाहिए। इसके अलावा गर्म वातावरण से आकर तुरंत ठंडे पानी से नहीं नहाना चाहिए। सर्दी-जुकाम से पीड़ित व्यक्ति को कभी भी एसी में नहीं बैठना चाहिए। भोजन करने से पहले अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए। सर्दी जुकाम से पीड़ित होने के दौरान हमेशा फेस मास्क लगाकर रखना चाहिए, ये आपके और सामने वाले दोनों के लिए बेहतर है।

सर्दी-जुकाम में इन चीजों से करें परहेज

सर्दी जुकाम के दौरान हमें कुछ चीजों से परहेज भी करना चाहिए। इस दौरान ठंडी चीजों का बिल्कुल प्रयोग नहीं करना चाहिए। खाने में भी विशेष सावधानी रखने की जरूरत पड़ती है। इस दौरान दही और चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। सर्दी-जुकाम के दौरान कोल्ड ड्रिंक, आइसक्रीम, ठंडा पानी और बर्फ से बनी चीजों को नहीं खाना चाहिए।

यह लेख सामान्य रूप से उपलब्ध जानकारी के आधार पर है। अगर इन घरेलू उपायों के बाद सर्दी-जुकाम से आराम न मिले तो तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से सम्पर्क करें। साथ ही समय-समय पर अपने डॉक्टर से सुझाव लेते रहें |

,
background
background
background
background
srimandir
अपने फोन में स्थापित करें अपना मंदिर, अभी डाउनलोड करें।
© 2020 - 2022 FirstPrinciple AppsForBharat Pvt. Ltd.
facebookyoutubeinsta