कैसे पाएं दांत दर्द से राहत ?

कैसे पाएं दांत दर्द से राहत ?

दांत दर्द से राहत के लिए घरेलू उपाय


दांत दर्द से राहत के लिए घरेलू उपाय

मानव शरीर को एक मशीन भी कहा गया है। ऐसे में हमारे शरीर में थोड़ी-बहुत परेशानियां भी आती रहती है। कुछ परेशानियां बड़ी होती है, वहीं कुछ कहने के लिए तो छोटी होती है, लेकिन कभी-कभी कुछ ज्यादा ही परेशान कर देती है। आज हम बात कर रहे हैं दांतों में दर्द, इससे होने वाली समस्या और इसके घरेलू उपचार की।

दांतों में दर्द हमें बहुत ज्यादा परेशान कर सकता है। क्योंकि दांतों में दर्द होने पर इंसान कुछ खा नहीं पाता है। जिससे उनकी परेशानी और बढ़ जाती है। वैसे तो दांतों के इलाज के लिए कई क्लिनिक हर जगह उपलब्ध हैं, लेकिन कई बार ये भी संभव नहीं होता है कि बार-बार होने वाले दांत दर्द या आधी रात को अचानक हुए दांत दर्द के इलाज के लिए कोई सब कुछ छोड़ डॉक्टर के पास चला जाए। ऐसे में लोग दांत दर्द से जल्द राहत पाने के लिए घरेलू उपचार खोजते हैं। आज इस लेख में हम आपको ऐसे ही कुछ उपाय के बारे में बता रहे हैं, जिसे करने से आपको दांत दर्द में राहत महसूस होगी।

क्यों होता है दांतों में दर्द ?

दांतों में दर्द के कई कारण बताये गए हैं। आयुर्वेद में इसे वात दोष के कारण होना बताया गया है। साफ-सफाई में कमी के कारण भी दांतों में दर्द हो सकता है। दांतों की सही से साफ-सफाई नहीं होने से इसमें कीड़े लगने का डर रहता है। कई बार दांतों में कैविटी हो जाती है। जिससे दांत दर्द की समस्या हो सकती है। कई बार खानपान में कमी जिसके कारण शरीर में कैल्शियम की कमी के कारण भी दांत कमजोर हो जाते हैं, जिससे दांत में दर्द की समस्या हो सकती है। कई बार चोट लगने के कारण भी दांत दर्द की तकलीफ हो सकती है। हालांकि, इन तमाम समस्याओं से आसानी से निजात मिल सकता है। इसके लिए इंसान को अपने शरीर पर थोड़ा विशेष ध्यान देने की जरूरत है।

बच्चों में दांत दर्द की समस्या

वैसे बच्चों के शरीर को सबसे स्वस्थ माना गया है, लेकिन दांत दर्द के मामले में आजकल छोटे बच्चों में भी अक्सर ये समस्या देखने को मिल रही है। डेंटिस्ट के मुताबिक, ये बच्चों के ज्यादा मीठा खाने और दांतों की साफ-सफाई सही से न करने के कारण होता है। सही से साफ-सफाई न होने के कारण बैक्टीरियल इन्फेक्शन हो सकता है। जिससे दांतों में कैविटी बन जाती है और आगे चलकर ये दांत दर्द का कारण बनता है।

दांतों में दर्द दो तरह के होते हैं:

1. शार्प टूथ पेन: इसमें दांतों में बहुत तेज दर्द होता है। यह हमेशा कुछ खाते वक्त या बात करते वक्त होता है। कभी-कभी दांतों पर दबाव पड़ने पर भी दांतों में दर्द होने लगता है।

2. डल टूथ पेन: इसे आम भाषा में दांतों में झनझनाहट भी कहते हैं। ये ज्यादा गर्म या ठंडा खाना खाने से होता है। इसमें आप आइसक्रीम या गरम खाना नहीं खा पाते हैं। यह हल्का दर्द होता है, लेकिन काफी देर तक रहता है।

दांत दर्द से निजात पाने के घरेलू उपाय:

दांतों में दर्द के लिए कई तरह के एलोपैथिक उपचार मौजूद हैं। जिससे आपको आराम मिल जाता है। हालांकि, ये काफी खर्चीला होता है। कई बार एलोपैथिक दवाओं के साइड इफेक्ट्स भी देखने को मिलता है। ऐसे में कई लोग पहले कुछ घरेलू उपाय अपनाना चाहते हैं। जो कम खर्च या कई बार बिना किसी खर्च के ही होते हैं। घरेलू उपचार से कई बीमारियों का इलाज संभव है। दांत दर्द में भी घरेलू उपचार को तुरंत आराम देने के साथ कारगर माना गया है, तो आइए जानते हैं क्या है दांत दर्द के आसान और घरेलू उपचार।

लौंग: दांत दर्द के उपचार में कारगर है लौंग

लौंग को मसाले के साथ जड़ी-बूटियों की कैटेगरी में रखा गया है। दांत दर्द से तुरंत छुटकारा पाने के लिए लौंग को दर्द कर रहे दांत के नीचे दबाकर रख सकते हैं। इससे काफी हद तक राहत मिल सकती है। बेहतर परिणाम के लिए लौंग का तेल दर्द वाली जगह पर लगा सकते हैं।

काली मिर्च: दांत के दर्द से छुटकारा दिलाती है काली मिर्च

काली मिर्च में कई आयुर्वेदिक गुण होते हैं। इससे कई तरह की बीमारियों का इलाज होता है। ठंडा-गरम से होने वाले दांत दर्द में काली मिर्च काफी कारगर माना गया है। इसके लिए काली मिर्च पाउडर और नमक को बराबर मात्रा में मिलाकर पानी के साथ पेस्ट बना दर्द वाली जगह पर लगाकर रखने से दांत दर्द ठीक हो जाता है।

लहसुन: दांत दर्द से निजात दिलाता है लहसुन

लहसुन को किटाणुनाशक भी कहा जाता है। आम धारणा है कि दांत में दर्द होने पर लहसुन को चबाने से राहत मिलती है। जानकार बताते हैं कि इसके अंदर मौजूद Allicin प्राकृतिक जीवाणुरोधी के रूप में काम करता है।

प्याज: दांत दर्द के इलाज में कारगर है प्याज

प्याज को एंटी बैक्टीरियल माना जाता है। दांत दर्द में भी प्याज काफी राहत देता है। एंटी बैक्टीरियल होने के कारण प्याज मुंह के जीवाणु और बैक्टीरिया को खत्म कर देता हैं। दांत में दर्द होने पर प्याज के एक टुकड़े को दर्द कर रहे दांत के पास रखने या चबाने से दांत दर्द में राहत मिलती है।

आलू: दांतों के दर्द से छुटकारा दिलाता है आलू

दांत दर्द के इलाज में आलू भी कारगर माना गया है। दांत दर्द में आलू का छोटा-छोटा टुकड़ा कर अच्छी तरह से चूसना चाहिए। इससे दांत दर्द से आराम मिलता है।

हल्दी: दांत दर्द से आराम दिलाता है हल्दी

हल्दी के प्राकृतिक एंटीबायोटिक कहा गया है। यह दांत दर्द में काफी कारगर माना गया है। हल्दी, नमक और सरसों के तेल का पेस्ट बनाकर, दर्द कर रहे दांत पर लगाने से राहत मिलती है।

हींग: दांत दर्द की कारगर दवा है हींग

हींग को भी दांत दर्द से छुटकारा दिलाने में काफी कारगर माना गया है। कहते हैं, चुटकी भर हींग को मौसमी के रस में मिलाकर दर्द वाले भाग में रुई की मदद से लगाने से राहत मिलती है। हींग और मौसमी का रस दांत दर्द से तुरंत आराम दिलाता है।

अमरूद: दांत दर्द में राहत दिलाता है अमरूद

अमरूद के पत्ते एंटी-बैक्टीरियल होते हैं। जिससे ये कई बीमारियों के इलाज में कारगर माना गया है। दांत दर्द से राहत के लिए अमरूद के पेड़ की ताजी पत्तों को चबाएं। इसके अलावा ताजी पत्तियों को पानी में उबालकर ठंडा कर लें फिर इसमें नमक मिलाकर इससे कुल्ला कर सकते हैं।

बेकिंग सोडा: दांत दर्द की रामबाण दवा है बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा यानी खाने वाला सोडा दांत दर्द में काफी राहत देता है। दांत दर्द से राहत पाने के लिए रूई को पानी भिगो लें, फिर पानी को निचोड़ रूई पर बेकिंग सोडा छिड़क इसे दर्द वाले दांत पर रखें। अगर दांत में दर्द ज्यादा हो रहा हो तो, गुनगुने पानी में बेकिंग सोडा डालकर कुल्ला कर सकते हैं।

हाइड्रोजन पेरोक्साइड: दांत दर्द में कारगर है हाइड्रोजन पेरोक्साइड

हाइड्रोजन पेरोक्साइड को भी दांत दर्द के इलाज के लिए काफी कारगर माना गया है। यह बैक्टीरिया को खत्म करता है और दांतों में लगे Plaque और मसूड़ों से निकलते खून की समस्या को भी दूर करता है। दांत दर्द से पीड़ित व्यक्ति हाइड्रोजन पेरोक्साइड से कुल्ला कर सकते हैं।

अजवाइन: दांत दर्द दूर करता है अजवाइन की पत्ती

अजवाइन की पत्ती को दांत दर्द को दूर करने में काफी उपयोगी माना गया है। अजवाइन की पत्ती को चबाने से दांत दर्द से आराम मिलता है।

खानपान का रखें विशेष ख्याल

दांत दर्द का एक कारण खान-पान भी है। कई बार मीठा या चिपचिपा पदार्थ खाने के बाद वो दांत में फंसा रह जाता है, जो सड़ जाता है। जिससे इन्फेक्शन हो जाते हैं, जो आगे चलकर दांतों को सड़ा देता है। जिससे दांतों में दर्द के साथ कई तरह की समस्या का कारण बनता है। ऐसे में हमें मीठा और चिपचिपा पदार्थ खाने के बाद ब्रश जरूर करना चाहिए। बहुत ज्यादा ठंडा या बहुत ज्यादा गरम चीजें भी खाने से बचना चाहिए। कुछ भी खाने के बाद हमेशा संभव हो तो ब्रश करना चाहिए, अगर ब्रश करना संभव न हो तो अच्छी तरह से कुल्ला जरूर करना चाहिए।

यह लेख सामान्य रूप से उपलब्ध जानकारी के आधार पर है। अगर इन घरेलू उपायों के बाद दांत दर्द में आराम न मिले तो तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर से सम्पर्क करें। साथ ही समय-समय पर अपने डॉक्टर से दांतों को स्वस्थ रखने के लिए सुझाव लेते रहें। कहते हैं, हर शख्स को 6 महीने में एक बार अपने दांत को डेंटिस्ट को जरूर दिखाना चाहिए।

श्री मंदिर द्वारा आयोजित आने वाली पूजाएँ