राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान
राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान
राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान
राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान
राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान
राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान
राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान
temple venue
श्री प्राचीन राज द्वार मंदिर, अयोध्या, उत्तर प्रदेश
pooja date
Warning Infoइस पूजा की बुकिंग बंद हो गई है
srimandir devotees
srimandir devotees
srimandir devotees
srimandir devotees
srimandir devotees
srimandir devotees
srimandir devotees
अब तक1,50,000+भक्तोंश्री मंदिर द्वारा आयोजित पूजाओ में भाग ले चुके हैं

राम नवमी विशेष श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान

भगवान राम को भगवान विष्णु का सातवां अवतार माना जाता है। राम नवमी के शुभ पर्व पर भगवान राम की उपासना कर भक्त सुखी व समृद्ध जीवन की कामना करते हैं। दिनांक 17 अप्रैल 2024 को श्री प्राचीन राज द्वार मंदिर, अयोध्या में रामनवमी के पावन पर्व पर श्री राम नमस्कार अष्टकम स्त्राेत पाठ, श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा एवं सरयू दीप दान का आयोजन किया जा रहा है। श्री मंदिर के माध्यम से इस विशेष पूजा में भाग लें और श्री राम के आशीष से जीवन के सभी दुर्गुणों का नाश, पापों से मुक्ति, सुख, समृद्धि एवं धन प्राप्ति के अलावा अन्य सभी कष्टों से मुक्ति पाएं।

पूजा लाभ

puja benefits
पापों से मुक्ति
मान्यता है कि श्री राम अष्टकम का पाठ करने वाले भक्तों को सभी पापों से मुक्ति प्राप्त होती है। इस अष्टकम में श्री राम की महिमा, गुण, और शक्तियों की प्रशंसा की गई है, जो भक्तों को पापों से दूर रखने में सहायक होती हैं। श्री राम अष्टकम के पाठ से भक्त को आत्मिक शांति, उच्च संयम प्राप्त होता है। इसके अलावा, रामायण की महिमा को याद करके भक्त का मानसिक और आध्यात्मिक विकास होता है और वह पापों से मुक्ति प्राप्त करता है।
puja benefits
नकारात्मक ऊर्जा से रक्षा
मलला के अवतार का मुख्य उद्देश्य धरती से बुरी शक्तियों का नाश करना था। इसलिए इस महापूजा से भक्तों के जीवन से अशुभत्व के साथ साथ आंतरिक और बाह्य नकारात्मक शक्तियों का नाश होता है।
puja benefits
दुर्गुणों से मुक्ति
भगवान श्री राम के आशीष से भक्तों के जीवन में मर्यादा, वचनबद्धता, सत्यव्रत एवं निष्ठा के गुण स्थापित होते हैं, जिससे भक्तों के जीवन से दुर्गुणों का नाश होता है और प्रगति एवं उन्नति की प्राप्ति होती है।
puja benefits
पारिवारिक क्लेश का नाश
परिवार में अक्सर होने वाले अनबन एवं क्लेश से परेशान हैं तो श्री राम राज्य अभिषेक महापूजा के साथ सरयू दीप दान कराने से प्रभु श्री राम की कृपा के आशीष से पारिवारिक क्लेश से मुक्ति प्राप्त होती है।
puja benefits
सुखी, समृद्धि एवं धन प्राप्ति का आशीष
राम-राज्य की स्थापना श्री राम जी ने ही की थी, जिसमें सभी प्राणि सुखी और समृद्ध थें। रामनवमी पर आयोजित इस पूजा को करने से भक्तों के जीवन में पूरे वर्ष सुख, समृद्धि एवं संपत्ति के साथ वैभवपूर्ण जीवन का शुभाशीष प्राप्त होता है।

पूजा प्रक्रिया

Number-0

पूजा चयन करें

4 विभिन्न पूजा पैकेज ऑप्शन से चयन करें।
Number-1

अर्पण जोड़ें

अपनी पूजा के साथ गौ सेवा, वस्त्र दान, दीप दान भी करें। पूजा के लिए भुगतान करें।
Number-2

संकल्प विवरण दर्ज करें

भुगतान के बाद, अपना नाम और गोत्र दर्ज करें।
Number-3

पूजा दिन

अनुभवी पंडितों द्वारा वैदिक प्रक्रिया के अनुसार पूजा होगी। आपको अपने WhatsApp नंबर पर अपडेट्स मिलेंगे।
Number-4

पूजा वीडियो एबं तीर्थ प्रसाद डिलीवरी

अपने पंजीकृत WhatsApp नंबर पर पूजा के 4-5 दिनों में पूजा वीडियो एबं आपके दिए गए पते पर 8-10 दिनों बाद तीर्थ प्रसाद प्राप्त करें ।

श्री प्राचीन राज द्वार मंदिर,अयोध्या, उत्तर प्रदेश

श्री प्राचीन राज द्वार मंदिर,अयोध्या, उत्तर प्रदेश
अयोध्या में मौजूद रामकोट क्षेत्र में स्थापित श्री प्राचीन राजद्वार मंदिर को अयोध्या के सबसे ऊँचे मंदिरों में से एक माना जाता है। कहते हैं कि श्री राम, सीताजी एवं लक्ष्मणजी वनवास जाने के समय इसी मंदिर से होकर गए थे। रामकोट क्षेत्र यानि श्री राम का महल या राजदरबार, भगवान श्री राम के राजदरबार की शुरुआत इसी मंदिर से होती है, क्योंकि यह मंदिर भगवान श्री राम के राजदरबार का मुख्य द्वार था, इसलिए इस मंदिर को श्री राजद्वार मंदिर के नाम से जाना जाता है।

राजदरबार के इस मुख्य द्वार की रक्षा करने हेतु रामभक्त हनुमानजी भी वहां बैठे हैं, जिसे आज हम अयोध्या के लोकप्रिय श्री हनुमानगढ़ी मंदिर के नाम से जानते हैं। श्री राजद्वार मंदिर को अयोध्या का केंद्रबिंदु भी माना जाता है। इस मंदिर का पुनर्निर्माण अयोध्या नरेश श्री राजा मानसिंह ने आज से 900 वर्ष पहले करवाया था। ऐसी भी मान्यता है की इस मंदिर में भगवान श्री राम अपने सम्पूर्ण परिवार अर्थात सीताजी, लक्ष्मणजी एवं पवनपुत्र हनुमानजी के साथ विराजमान है। ऐसे में यहां पूजा करने से भगवान श्री राम भक्तों के सम्पूर्ण परिवार को रक्षा प्रदान करते हैं।

कैसा रहा श्री मंदिर पूजा सेवा का अनुभव?

क्या कहते हैं श्रद्धालु?
User review
User Image

जय राज यादव

दिल्ली
User review
User Image

रमेश चंद्र भट्ट

नागपुर
User review
User Image

अपर्णा मॉल

पुरी
User review
User Image

शिवराज डोभी

आगरा
User review
User Image

मुकुल राज

लखनऊ
User review
User Image

सुनील कुमार सैनी

चंडीगढ़
अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों