srimandir playstore link
श्री शनि देव के मंत्र

श्री शनि देव के मंत्र

पढ़ें श्री शनि देव के मंत्र, अर्थ और लाभ


श्री शनि देव के मंत्र

न्याय के देवता शनिदेव को शनिवार का दिन समर्पित है। इस दिन शनिदेव की पूजा करने से उन्हें प्रसन्न कर उनकी कृपा पाई जा सकती है। शनिदेव का कर्मफलदाता भी कहा जाता है। कहते हैं कि व्यक्ति के अच्छे-बुरे कर्मों के अनुसार ही उन्हें फल देते हैं।

ऐसा माना जाता है कि शनिवार के दिन सच्ची श्रद्धा और भक्ति से शनिदेव की पूजा करने वाले भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। शनिदेव की कृपा पाने के लिए यदि उनके मंत्रों का जाप किया जाए, तो जीवन के सभी दुख दूर हो जाते हैं और घर में सुख-समृद्धि आती है।

यहां हम शनिदेव के कुछ प्रभावशाली मंत्रों और उनसे होने वाले लाभ को आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहे हैं।

1. शनि की कुदृष्टि से छुटकारा पाने के लिए शनिदेव का मूल मंत्र:

ॐ शं शनैश्चराय नमः ||

मंत्र का अर्थ:

सर्व कर्म फल देने वाले हे शनिदेव हमारे पाप कर्मों का नाश कर शुभ फल प्रदान करें हम आपको नमस्कार करते हैं।

मंत्र का लाभ:

इस मंत्र के जाप से भगवान शनिदेव प्रसन्न होते हैं और जातक को शनिदेव का विशेष स्नेह प्राप्त होता है।

2. साढ़े साती का प्रभाव कम करने वाला श्री शनिदेव का मंत्र:

ॐ नीलांजन समाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम। छायामार्तण्डसम्भूतं तं नमामि शनैश्चरम् ||

मंत्र का अर्थ:

जिनका शरीर नीले वर्ण का है, जो छाया और सूर्य के पुत्र हैं एवं जो यम के बड़े भाई हैं। ऐसे शनि महाराज को हम बारंबार नमस्कार करते हैं।

मंत्र का लाभ:

शनि देव के इस मंत्र के जाप से साढ़े सती का दोष दूर होता है। साढ़े साती से ग्रसित व्यक्ति को शनि महामंत्र का 23000 बार जाप करने से लाभ प्राप्त होता है।

3. तकलीफों से मुक्ति प्राप्त करने के लिए शनिदेव के गायत्री मंत्र का जाप करें:

ॐ काकध्वजाय विद्महे खड्गहस्ताय धीमहि तन्नो मन्दः प्रचोदयात ||

मंत्र का अर्थ:

कौआ जिनका वाहन है, जिनके हाथों में खड्ग है, जो विशेष बुद्धि के धारक हैं, मैं ऐसे शनिदेव का ध्यान करता हूं। वे मंद गति वाले शनि महाराज हमें अपनी शरण प्रदान करें।

मंत्र का लाभ:

श्री शनि गायत्री मंत्र के जाप से श्री शनिदेव जी की कृपा प्राप्त होती है और जीवन में आ रही तकलीफों से मुक्ति मिलती है।

जब किसी जातक पर शनि की साढ़े साती, शनि ढैय्या या फिर शनि दशा खराब होती है तो जातक मानसिक, शारीरिक और आर्थिक रूप से परेशान रहता है, तब उन्हें शनिदेव के मंत्रों का नियमित रूप से जाप करना चाहिए।

इन मंत्रों से जातक को शीघ्र की शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है। इस प्रकार के अनमोल मंत्रों और तथ्यों की जानकारी के लिए बने रहिए श्री मंदिर के साथ।

,
background
background
background
background
srimandir
अपने फोन में स्थापित करें अपना मंदिर, अभी डाउनलोड करें।
© 2020 - 2022 FirstPrinciple AppsForBharat Pvt. Ltd.
facebookyoutubeinsta